हमारे बारे में

बैंक की भारत में 5100+ से अधिक शाखाएं हैं जो विशेष शाखाओं सहित सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में फैली हुई हैं। इन शाखाओं को 69 क्षेत्रीय कार्यालयों और 13 एफजीएमओ कार्यालयों के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है।

हमारा लक्ष्य

“सर्वश्रेष्ठ और व्यावहारिक बैंकिंग भूमंडलीय बाजारों में प्रदान करने के लिए एक विकास बैंक की भूमिका निभाते हुए लागत प्रभावी और दायित्वपूर्ण सेवाएं प्रदान करना और ऐसा करते हुए हमारे पूंजी निवेशकों की अपेक्षाओं को पूरा करना”।

हमारा दृष्टिकोण

“कंपनियों, मध्यम श्रेणी व्यापारियों और दूरदाराज के छोटे आम ग्राहकों का मनपसंद बैंक बनना, छोटे व्यापारियों, ग्रामीण बाजारों और सामान्य बाजार को लागत प्रभावी विकासमान बैंकिंग प्रदान करना”।

हमारा इतिहास

History

बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना 7 सितंबर, 1906 को मुंबई के प्रख्यात व्यवसायियों के एक समूह द्वारा की गई थी। बैंक जुलाई 1969 तक निजी स्वामित्व और नियंत्रण में था जब इसे 13 अन्य बैंकों के साथ राष्ट्रीयकृत किया गया था।

50 लाख रुपये की चुकता पूंजी और 50 कर्मचारियों के साथ मुंबई में एक कार्यालय के साथ शुरुआत करते हुए, बैंक ने वर्षों से तेजी से विकास किया है और एक मजबूत राष्ट्रीय उपस्थिति और बड़े पैमाने पर अंतर्राष्ट्रीय संचालन के साथ एक शक्तिशाली संस्थान के रूप में उभरा है। व्यवसाय की मात्रा में, बैंक राष्ट्रीयकृत बैंकों के बीच एक प्रमुख स्थान रखता है।

बैंक की भारत में 5000 से अधिक शाखाएं हैं जो विशेष शाखाओं सहित सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में फैली हुई हैं। इन शाखाओं को 69 क्षेत्रीय कार्यालयों और 13 एफजीएमओ कार्यालयों के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है। विदेशों में 45 शाखाएं/कार्यालय हैं जिनमें 23 शाखाएं, 1 प्रतिनिधि कार्यालय और 4 सहायक (20 शाखाएं) और 1 संयुक्त उद्यम शामिल हैं।

हमारी उपस्थिति

बैंक 1997 में अपना पहला सार्वजनिक निर्गम लेकर आया और फरवरी 2008 में योग्य संस्थानों के प्लेसमेंट का अनुसरण किया।

विवेक और सावधानी की नीति का दृढ़ता से पालन करते हुए, बैंक विभिन्न अभिनव सेवाओं और प्रणालियों को शुरू करने में सबसे आगे रहा है। व्यापार पारंपरिक मूल्यों और नैतिकता और सबसे आधुनिक बुनियादी ढांचे के सफल मिश्रण के साथ आयोजित किया गया है। बैंक 1989 में मुंबई में महालक्ष्मी शाखा में पूरी तरह से कम्प्यूटरीकृत शाखा और एटीएम सुविधा स्थापित करने वाले राष्ट्रीयकृत बैंकों में से पहला बैंक रहा है। बैंक भारत में स्विफ्ट का संस्थापक सदस्य भी है। इसने अपने क्रेडिट पोर्टफोलियो के मूल्यांकन / रेटिंग के लिए 1982 में हेल्थ कोड सिस्टम की शुरुआत का बीड़ा उठाया।

वर्तमान में बैंक की 5 महाद्वीपों में फैले 15 विदेशी देशों में विदेशी उपस्थिति है - प्रमुख बैंकिंग और वित्तीय केंद्रों जैसे टोक्यो, सिंगापुर, हांगकांग, लंदन, पेरिस में 4 सहायक कंपनियों, 1 प्रतिनिधि कार्यालय और 1 संयुक्त उद्यम सहित 47 शाखाओं/कार्यालयों के साथ। , न्यूयॉर्क, डीआईएफसी दुबई और गिफ्ट सिटी गांधीनगर में अंतर्राष्ट्रीय बैंकिंग इकाई (आईबीयू)।

बैंक ऑफ इंडिया संग्रहालय

हमारे पास 100+ वर्षों का इतिहास है और यहां सांस्कृतिक और ऐतिहासिक क्षणों का संग्रह है जो आपको दिलचस्पी देगा

हम आपके लिए 24X7 काम करते हैं, हम आपके भविष्य को बेहतर, स्मार्ट बनाते हैं और आपके लक्ष्य को प्राप्त करने में आपकी सहायता करते हैं। यहां हमारा शीर्ष नेतृत्व है जो अधिक केंद्रित रणनीतियों का निर्माण कर रहा है जो हमारे ग्राहक लक्ष्यों को संरेखित करता है।

अध्यक्ष

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

परिचय

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

श्री एम.आर.कुमार ने 22.02.2024 को बैंक ऑफ़ इंडिया के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया है।

श्री कुमार मद्रास विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक हैं। उन्होंने मार्च 2019 से मार्च 2023 तक भारत के एलआईसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने 1983 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में भारतीय जीवन बीमा निगम में सेवारम्भ किया। साढ़े तीन दशकों से अधिक के करियर में, उन्हें भारतीय जीवम बीमा निगम के तीन क्षेत्रों, अर्थात् दक्षिणी क्षेत्र, उत्तर मध्य क्षेत्र और उत्तरी क्षेत्र, क्रमशः चेन्नई, कानपुर और दिल्ली में मुख्यालय का नेतृत्व करने का अनूठा अवसर मिला है।

कार्यपालक निदेशक के रूप में, उन्होंने कार्मिक विभाग के साथ-साथ एलआईसी के पेंशन और समूह बीमा संविभागों का नेतृत्व किया। उनके कार्यकाल के दौरान, कर्मचारियों के लाभ के लिए कई पहल किए गए। इसके अलावा, जीवन बीमा प्रबंधन की विभिन्न धाराओं जैसे प्रशासन, विपणन, समूह और सामाजिक प्रतिभूतियों में काम करने से उन्हें समृद्ध ज्ञान एवं जीवन बीमा उद्योग में प्रक्रियाओं और पद्धतियों के संबंध में स्पष्टता के दोहरा लाभ भी मिला है।

एलआईसी के अध्यक्ष होने के अलावा, वह एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, एलआईसी पेंशन फंड लिमिटेड, एलआईसी म्यूचुअल फंड एएमसी लिमिटेड, एलआईसी कार्ड सर्विसेज लिमिटेड, आईडीबीआई बैंक, एलआईसी सिंगापुर पीटीई, एलआईसी लंका लिमिटेड, एलआईसी (अंतरराष्ट्रीय) बीएससी, बहरीन, एलआईसी नेपाल लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष भी थे। आईडीबीआई बैंक के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में, वे आईडीबीआई बैंक को घाटे में चल रही इकाई से लाभ वाली इकाई में बदलने की कार्यनीति बनाने में शामिल थे।

उन्होंने केनइंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, केन्या और एसीसी लिमिटेड, भारत के बोर्ड में निदेशक का भी पद संभाला।

वे राष्ट्रीय बीमा अकादमी के शासी बोर्ड के अध्यक्ष, भारतीय बीमा संस्थान के अध्यक्ष और बीमा लोकपाल परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

वर्तमान में, वे अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के बोर्ड में निदेशक हैं।

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

परिचय

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

श्री रजनीश कर्नाटक ने 29 अप्रैल, 2023 को बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया है। वह 21 अक्टूबर, 2021 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में अपनी नियुक्ति तक पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य महाप्रबंधक थे। उन्होंने वाणिज्य में स्नातकोत्तर (एमकॉम) किया हैं और भारतीय बैंकर संस्थान के एक प्रमाणित एसोसिएट (सीएआईआईबी) हैं।

श्री कर्नाटक के पास 30 से अधिक वर्षों का समृद्ध बैंकिंग अनुभव और उनके पास विभिन्न शाखा और प्रशासनिक कार्यालय का अनुभव है। पूर्ववर्ती ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में महाप्रबंधक के रूप में, उन्होंने बड़ी कॉर्पोरेट क्रेडिट शाखाओं और क्रेडिट मॉनिटरिंग, डिजिटल बैंकिंग और मिड कॉर्पोरेट क्रेडिट जैसे वर्टिकल का नेतृत्व किया है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के पंजाब नेशनल बैंक में विलय के बाद, उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक में क्रेडिट रिव्यू एंड मॉनिटरिंग डिवीजन और कॉर्पोरेट क्रेडिट डिवीजन का भी नेतृत्व किया है।

श्री कर्नाटक ने आईआईएम-कोझीकोड और जेएनआईडीबी हैदराबाद से विभिन्न प्रशिक्षण और नेतृत्व विकास कार्यक्रमों में भाग लिया है और आईएमआई (अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान) दिल्ली और आईआईबीएफ (भारतीय बैंकिंग और वित्त संस्थान) में अग्रिम प्रबंधन कार्यक्रम में भी भाग लिया है। वह आईआईएम बैंगलोर और एगॉन जेन्डर के नेतृत्व विकास कार्यक्रम के लिए बैंक बोर्ड ब्यूरो द्वारा चुने गए वरिष्ठ अधिकारियों के पहले बैच का हिस्सा थे। वह क्रेडिट जोखिम पर विशेष संदर्भ/विशेष जोर देने के साथ जोखिम प्रबंधन के साथ परियोजना वित्त पोषण और कार्यशील पूंजी वित्तपोषण सहित क्रेडिट मूल्यांकन कौशल रखते हैं।

श्री कर्नाटक ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने यूबीआई (यूके) लिमिटेड के बोर्ड में गैर-स्वतंत्र गैर-कार्यपालक निदेशक के रूप में भी कार्य किया है। वह भारतीय बैंक प्रबंधन संस्थान (आईआईबीएम) गुवाहाटी के गवर्निंग बोर्ड के सदस्य थे। उन्होंने पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड और इंडिया एसएमई एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के बोर्ड में पंजाब नेशनल बैंक की ओर से नामित निदेशक के रूप में कार्य किया है। उन्होंने आईएएमसीएल (आईआईएफसीएल एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड) में बोर्ड ट्रस्टी के रूप में भी काम किया।

वह आईबीए, आईबीपीएस और एनआईबीएम आदि की विभिन्न समितियों में सेवारत हैं। वह आईएफएससी गिफ्ट सिटी पर आईबीए क्षेत्रीय समिति की समिति के अध्यक्ष - आईबीए की बैंकिंग इकाइयाँ और आईबीपीएस की वित्त समिति के अध्यक्ष हैं। इसके अलावा, वह आईबीपीएस और एनआईबीएम में गवर्निंग बोर्ड के सदस्य हैं।

निदेशक

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

परिचय

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

श्री एम.आर.कुमार ने 22.02.2024 को बैंक ऑफ़ इंडिया के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया है।

श्री कुमार मद्रास विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक हैं। उन्होंने मार्च 2019 से मार्च 2023 तक भारत के एलआईसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने 1983 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में भारतीय जीवन बीमा निगम में सेवारम्भ किया। साढ़े तीन दशकों से अधिक के करियर में, उन्हें भारतीय जीवम बीमा निगम के तीन क्षेत्रों, अर्थात् दक्षिणी क्षेत्र, उत्तर मध्य क्षेत्र और उत्तरी क्षेत्र, क्रमशः चेन्नई, कानपुर और दिल्ली में मुख्यालय का नेतृत्व करने का अनूठा अवसर मिला है।

कार्यपालक निदेशक के रूप में, उन्होंने कार्मिक विभाग के साथ-साथ एलआईसी के पेंशन और समूह बीमा संविभागों का नेतृत्व किया। उनके कार्यकाल के दौरान, कर्मचारियों के लाभ के लिए कई पहल किए गए। इसके अलावा, जीवन बीमा प्रबंधन की विभिन्न धाराओं जैसे प्रशासन, विपणन, समूह और सामाजिक प्रतिभूतियों में काम करने से उन्हें समृद्ध ज्ञान एवं जीवन बीमा उद्योग में प्रक्रियाओं और पद्धतियों के संबंध में स्पष्टता के दोहरा लाभ भी मिला है।

एलआईसी के अध्यक्ष होने के अलावा, वह एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, एलआईसी पेंशन फंड लिमिटेड, एलआईसी म्यूचुअल फंड एएमसी लिमिटेड, एलआईसी कार्ड सर्विसेज लिमिटेड, आईडीबीआई बैंक, एलआईसी सिंगापुर पीटीई, एलआईसी लंका लिमिटेड, एलआईसी (अंतरराष्ट्रीय) बीएससी, बहरीन, एलआईसी नेपाल लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष भी थे। आईडीबीआई बैंक के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में, वे आईडीबीआई बैंक को घाटे में चल रही इकाई से लाभ वाली इकाई में बदलने की कार्यनीति बनाने में शामिल थे।

उन्होंने केनइंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, केन्या और एसीसी लिमिटेड, भारत के बोर्ड में निदेशक का भी पद संभाला।

वे राष्ट्रीय बीमा अकादमी के शासी बोर्ड के अध्यक्ष, भारतीय बीमा संस्थान के अध्यक्ष और बीमा लोकपाल परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

वर्तमान में, वे अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के बोर्ड में निदेशक हैं।

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

परिचय

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

श्री रजनीश कर्नाटक ने 29 अप्रैल, 2023 को बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया है। वह 21 अक्टूबर, 2021 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में अपनी नियुक्ति तक पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य महाप्रबंधक थे। उन्होंने वाणिज्य में स्नातकोत्तर (एमकॉम) किया हैं और भारतीय बैंकर संस्थान के एक प्रमाणित एसोसिएट (सीएआईआईबी) हैं।

श्री कर्नाटक के पास 30 से अधिक वर्षों का समृद्ध बैंकिंग अनुभव और उनके पास विभिन्न शाखा और प्रशासनिक कार्यालय का अनुभव है। पूर्ववर्ती ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में महाप्रबंधक के रूप में, उन्होंने बड़ी कॉर्पोरेट क्रेडिट शाखाओं और क्रेडिट मॉनिटरिंग, डिजिटल बैंकिंग और मिड कॉर्पोरेट क्रेडिट जैसे वर्टिकल का नेतृत्व किया है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के पंजाब नेशनल बैंक में विलय के बाद, उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक में क्रेडिट रिव्यू एंड मॉनिटरिंग डिवीजन और कॉर्पोरेट क्रेडिट डिवीजन का भी नेतृत्व किया है।

श्री कर्नाटक ने आईआईएम-कोझीकोड और जेएनआईडीबी हैदराबाद से विभिन्न प्रशिक्षण और नेतृत्व विकास कार्यक्रमों में भाग लिया है और आईएमआई (अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान) दिल्ली और आईआईबीएफ (भारतीय बैंकिंग और वित्त संस्थान) में अग्रिम प्रबंधन कार्यक्रम में भी भाग लिया है। वह आईआईएम बैंगलोर और एगॉन जेन्डर के नेतृत्व विकास कार्यक्रम के लिए बैंक बोर्ड ब्यूरो द्वारा चुने गए वरिष्ठ अधिकारियों के पहले बैच का हिस्सा थे। वह क्रेडिट जोखिम पर विशेष संदर्भ/विशेष जोर देने के साथ जोखिम प्रबंधन के साथ परियोजना वित्त पोषण और कार्यशील पूंजी वित्तपोषण सहित क्रेडिट मूल्यांकन कौशल रखते हैं।

श्री कर्नाटक ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने यूबीआई (यूके) लिमिटेड के बोर्ड में गैर-स्वतंत्र गैर-कार्यपालक निदेशक के रूप में भी कार्य किया है। वह भारतीय बैंक प्रबंधन संस्थान (आईआईबीएम) गुवाहाटी के गवर्निंग बोर्ड के सदस्य थे। उन्होंने पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड और इंडिया एसएमई एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के बोर्ड में पंजाब नेशनल बैंक की ओर से नामित निदेशक के रूप में कार्य किया है। उन्होंने आईएएमसीएल (आईआईएफसीएल एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड) में बोर्ड ट्रस्टी के रूप में भी काम किया।

वह आईबीए, आईबीपीएस और एनआईबीएम आदि की विभिन्न समितियों में सेवारत हैं। वह आईएफएससी गिफ्ट सिटी पर आईबीए क्षेत्रीय समिति की समिति के अध्यक्ष - आईबीए की बैंकिंग इकाइयाँ और आईबीपीएस की वित्त समिति के अध्यक्ष हैं। इसके अलावा, वह आईबीपीएस और एनआईबीएम में गवर्निंग बोर्ड के सदस्य हैं।

Shri P R Rajagopal

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

परिचय
Shri P R Rajagopal

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

श्री पी आर राजगोपाल, आयु 53 वर्ष वाणिज्य स्नातक और विधि स्नातक (बीएल) हैं। उन्होंने 1995 में एक अधिकारी के रूप में बैंक ऑफ इंडिया में अपना करियर शुरू किया और 2000 में वरिष्ठ प्रबंधक बने। भारतीय बैंक संघ में कानूनी सलाहकार के रूप में नियुक्त हुए और 2004 तक बैंक ऑफ इंडिया में प्रत्यावर्तन तक आईबीए के साथ रहे। वह 2004 में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में शामिल हुए और वर्ष 2016 में महाप्रबंधक के पद पर पदोन्नत हुए। कार्यकारी निदेशक के पद पर पदोन्नति पर, वह 01.03.2019 को इलाहाबाद बैंक में शामिल हुए।

उन्होंने 18 मार्च, 2020 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

Shri M Karthikeyan

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

परिचय
Shri M Karthikeyan

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

56 वर्षीय श्री एम कार्तिकेयन इंडियन बैंक में महाप्रबंधक (कॉर्पोरेट विकास अधिकारी) थे। वह कृषि में मास्टर ऑफ साइंस, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (सीएआईआईबी) के प्रमाणित एसोसिएट, जीयूआई एप्लीकेशन में डिप्लोमा, प्रबंधन में डिप्लोमा हैं। 32 से अधिक वर्षों की अपनी पेशेवर यात्रा के दौरान, उन्हें कॉर्पोरेट कार्यालय और फील्ड स्तर की बैंकिंग का व्यापक एक्सपोजर मिला है। वह धर्मपुरी, पुणे और चेन्नई नॉर्थ जोन के जोनल मैनेजर थे। वह फील्ड जनरल मैनेजर दिल्ली थे जो 8 जोन को कंट्रोल करते थे। उन्होंने प्रधान कार्यालय में वसूली और कानूनी विभाग का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है।

वह तमिलनाडु ग्राम बैंक के बोर्ड में भी थे, जिसका गठन दो आरआरबी अर्थात् पांडियन ग्राम बैंक की विलय इकाई के रूप में किया गया था, जो इंडियन ओवरसीज बैंक की सहायक कंपनी पल्लवन ग्राम बैंक के साथ इंडियन बैंक की एक सहायक कंपनी है।

उन्होंने 10.03.2021 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

श्री सुब्रत कुमार को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है और उन्होंने 21.11.2022 को कार्यभार ग्रहण किया है। श्री कुमार बी.एससी., एमबीए और सीएआईआईबी अहर्ता प्राप्त बैंकर हैं। उनके पास कमर्शियल बैंकों/एसेट मैनेजमेंट कंपनी में 27 से अधिक वर्षों तक कार्य करने का अनुभव है।

बैंकिंग उद्योग में अपने लंबे कार्यकाल के दौरान, उन्होंने ट्रेजरी और निवेश बैंकिंग, जोखिम प्रबंधन, क्रेडिट निगरानी और कॉर्पोरेट बैंकिंग में विशेषज्ञता के साथ परिचालन और रणनीतिक बैंकिंग के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विविध अनुभव अर्जित किए। उन्होंने रीजनल हेड, पटना, हेड ऑफ ट्रेजरी मैनेजमेंट, ऑडिट एंड इंस्पेक्शन, क्रेडिट मॉनिटरिंग एंड कॉरपोरेट क्रेडिट जैसी जिम्मेदारियों को सफलतापूर्वक संभाला। उन्होंने बैंक के मुख्य जोखिम अधिकारी (ईवीबी) और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) का पद भी संभाला।

वह एफआईएमएमडीए और बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड के बोर्ड में भी थे।

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

श्री राजीव मिश्रा ने 01 मार्च, 2024 को बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया है। उन्होंने एमबीए और बीई किया है, और वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स और इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। वे बीबीबी और आईआईएम-बैंगलोर के साथ वरिष्ठ पीएसबी प्रबंधन के लिए नेतृत्व विकास कार्यक्रम का हिस्सा थे।

श्री मिश्रा के पास डिजिटल, एनालिटिक्स और आईटी, रिटेल और एमएसएमई क्रेडिट, लार्ज कॉर्पोरेट्स, वसूली और कोषागार में 24 वर्षों का गहरा और विविध अनुभव है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के लिए डिजिटल यात्रा परिवर्तन का नेतृत्व किया, जिसमें उनके प्रमुख मोबाइल ऐप व्योम का शुभारंभ भी शामिल है।

श्री मिश्रा ने विभिन्न क्षेत्रों और कार्यक्षेत्रों में कई नेतृत्व वाले पदों पर काम किया है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण इकाइयों यथा मुंबई, लखनऊ, कोलकाता और वाराणसी के आंचलिक प्रमुख और क्षेत्रीय प्रमुख के रूप में सफल कारोबारीक कार्यनिष्पादन का नेतृत्व किया। उन्होंने डिजिटल, आईटी और एनालिटिक्स, वसूली और देयता-क्षेत्रों का भी नेतृत्व किया। श्री मिश्रा ने काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक, वाराणसी, यूपी सरकार द्वारा स्थापित यूपी इंडस्ट्रियल कंसल्टेंट लिमिटेड, सिडबी एवं पीएसबी और यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के बोर्डों में भी काम किया है।

Dr. Bhushan Kumar Sinha

डॉ. भूषण कुमार सिन्हा

भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक

परिचय
Dr. Bhushan Kumar Sinha

डॉ. भूषण कुमार सिन्हा

भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक

डॉ भूषण कुमार सिन्हा को 11.04.2022 से बैंक ऑफ इंडिया में भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।

वह भारतीय आर्थिक सेवा के 1993 बैच के सदस्य हैं। उन्होंने नेशनल ग्रेजुएट स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (एनजीएसएम), ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी, कैनबरा, ऑस्ट्रेलिया से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) में मास्टर डिग्री और दिल्ली विश्वविद्यालय, भारत के वित्तीय अध्ययन विभाग से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है।

वर्तमान में वह वित्तीय सेवा विभाग (डीएफएस), वित्त मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली में संयुक्त सचिव के रूप में तैनात हैं। 2018 में डीएफएस में शामिल होने से पहले, उन्होंने निवेश और सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) में आर्थिक सलाहकार के रूप में तीन साल का कार्यकाल किया था।

वह 14.05.2018 से 11.04.2022 तक भारत सरकार के नामित निदेशक के रूप में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के बोर्ड में थे।

बैंक ऑफ इंडिया के अलावा, वह आईएफसीआई लिमिटेड के निदेशक मंडल में भारत सरकार के नामित निदेशक भी हैं।

SHRI ASHOK NARAIN

श्री अशोक नारायण

आरबीआई नामित निदेशक

परिचय
SHRI ASHOK NARAIN

श्री अशोक नारायण

आरबीआई नामित निदेशक

श्री अशोक नारायण पर्यवेक्षी नियामक कार्यक्षेत्र में लगभग 18 वर्षों सहित 33 वर्षों की सेवा के बाद 2022 में भारतीय रिज़र्व बैंक के पर्यवेक्षण विभाग के मुख्य महाप्रबंधक के रूप में सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने बैंकों की कई ऑन-साइट परीक्षा का नेतृत्व किया और वाणिज्यिक बैंकों और शहरी सहकारी बैंकों के ऑफ-साइट पर्यवेक्षण के विकास को भी आकार दिया।

उन्हें आरबीआई के लिए उद्यम वार जोखिम प्रबंधन को लागू करने का कार्य सौंपा गया था और उन्होंने सेंट्रल बैंक श्रीलंका के लिए ईआरएम आर्किटेक्चर के विकास का भी मार्गदर्शन किया। उन्हें विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कार्य समूहों में आरबीआई द्वारा नामित किया गया था, साथ ही साथ निजी क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंक के बोर्ड में सदस्य भी थे। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय परिचालन जोखिम कार्य समूह (आईओआरडब्ल्यूजी) 2014-16, वित्तीय उपभोक्ता संरक्षण पर जी 20-ओईसीडी टास्क फोर्स (2017 और 2018) के सदस्य के रूप में आरबीआई का प्रतिनिधित्व किया और 2019-22 के दौरान वित्तीय स्थिरता बोर्ड बेसल के गैर-बैंकिंग निगरानी विशेषज्ञ समूह के गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थानों की टीम (क्रेडिट संस्थानों के लिए) के सह-नेतृत्व के रूप में प्रतिनिधित्व किया) 2019-22 के दौरान वित्तीय स्थिरता बोर्ड बेसल के गैर-बैंकिंग निगरानी विशेषज्ञ समूह के।

वह 2022 से वित्तीय क्षेत्र विशेषज्ञ के रूप में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा सूचीबद्ध हैं।

उन्होंने 14.07.2023 से पदभार ग्रहण किया है।

Ms. Veni Thapar

सुश्री वेनी थापर

शेयरधारक निदेशक

परिचय
Ms. Veni Thapar

सुश्री वेनी थापर

शेयरधारक निदेशक

सुश्री वेणी थापर, जिनकी आयु 50 वर्ष है, एक चार्टर्ड एकाउंटेंट और कॉस्ट अकाउंटेंट हैं। उन्होंने आईसीएआई से सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में डिप्लोमा और आईएसएसीए (यूएसए) से सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में प्रमाणन किया है। वह मैसर्स वीके थापर एंड कंपनी, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के साथ एक वरिष्ठ भागीदार हैं।

25 से अधिक वर्षों के अपने करियर के दौरान, उन्होंने संभाला है:

कंपनियों और संगठनों के वैधानिक और आंतरिक ऑडिट

- सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की विभिन्न शाखाओं के लिए बैंक लेखा परीक्षा

- सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में परामर्श

- कंपनी कानून, अप्रत्यक्ष कर, फेमा और आरबीआई मामलों में परामर्श

- अंतर्राष्ट्रीय कराधान सहित प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कराधान में परामर्श।

- फर्मों, बैंक, कंपनियों आदि में बोर्ड सदस्य।

वर्तमान में, वह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स में हैं।

उन्हें 04.12.2021 से 3 साल की अवधि के लिए बैंक के शेयरधारक निदेशक के रूप में चुना गया था।

Shri Munish Kumar Ralhan

श्री मुनीश कुमार रल्हन

अंशकालिक गैर-आधिकारिक निदेशक

परिचय
Shri Munish Kumar Ralhan

श्री मुनीश कुमार रल्हन

अंशकालिक गैर-आधिकारिक निदेशक

श्री मुनीष कुमार रल्हन, जिनकी आयु लगभग 48 वर्ष है, विज्ञान (बी.एससी) और एलएलबी में स्नातक हैं। वह पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय और अधीनस्थ न्यायालयों में एक प्रैक्टिसिंग वकील हैं, जिन्हें सिविल, आपराधिक, राजस्व, वैवाहिक, बैंकिंग, बीमा कंपनियों, उपभोक्ता, संपत्ति, दुर्घटना मामलों, सेवा मामलों आदि से संबंधित मामलों से निपटने का 25 वर्षों का समृद्ध अनुभव है।

वह होशियारपुर, पंजाब में भारत संघ के स्थायी वकील हैं।

उन्हें 21.03.2022 से 3 साल की अवधि के लिए या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, के लिए नियुक्त किया गया था।

Shri V V Shenoy

श्री वी वी शेनॉय

शेयरधारक निदेशक

परिचय
Shri V V Shenoy

श्री वी वी शेनॉय

शेयरधारक निदेशक

मुंबई के श्री विश्वनाथ विट्ठल शेनॉय, उम्र 60 वर्ष, वाणिज्य में स्नातक हैं और एक प्रमाणित बैंकर (सीएआईआईबी) हैं। वह इंडियन बैंक के कार्यपालक निदेशक (ईडी) के रूप में सेवानिवृत्त हुए। ईडी के रूप में, वह बड़े कॉरपोरेट क्रेडिट, मिड कॉरपोरेट क्रेडिट, इंटरनेशनल बैंकिंग, ट्रेजरी, मानव संसाधन, मानव विकास, बोर्ड सचिवालय आदि की देखरेख कर रहे थे।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में पहले विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके उनके पास 38 वर्षों से अधिक का बैंकिंग अनुभव है। वह इंडियन बैंक के नामांकित व्यक्ति के रूप में यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, इंडबैंक मर्चेंट बैंकिंग सर्विसेज लिमिटेड, इंड बैंक हाउसिंग लिमिटेड, सिक्योरिटीज एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्योरिटी इंटरेस्ट ऑफ इंडिया (सीईआरएसएआई) की केंद्रीय रजिस्ट्री के गैर-कार्यपालक निदेशक भी थे।

उन्होंने 29.11.2022 से 3 साल की अवधि के लिए पदभार ग्रहण किया है।

कार्यपालक निदेशक

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

श्री पी आर राजगोपाल, जिनकी आयु 53 वर्ष है, वाणिज् य स् नातक और विधि में स् नातक (बीएल) हैं। उन्होंने 1995 में एक अधिकारी के रूप में बैंक ऑफ इंडिया में अपना करियर शुरू किया और 2000 में वरिष्ठ प्रबंधक बने। कानूनी सलाहकार के रूप में भारतीय बैंक संघ के साथ दूसरे और 2004 तक बैंक ऑफ इंडिया में प्रत्यावर्तन तक आईबीए के साथ थे। वह 2004 में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में शामिल हुए और वर्ष 2016 में महाप्रबंधक के पद पर पदोन्नत हुए। कार्यपालक निदेशक के पद पर पदोन्नति पर, वह 01.03.2019 को इलाहाबाद बैंक में शामिल हो गए

उन्होंने 18 मार्च, 2020 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

56 वर्षीय श्री एम कार्तिकेयन इंडियन बैंक में महाप्रबंधक (कॉर्पोरेट विकास अधिकारी) थे। वह कृषि में मास्टर ऑफ साइंस, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (सीएआईआईबी) के प्रमाणित एसोसिएट, जीयूआई एप्लीकेशन में डिप्लोमा, प्रबंधन में डिप्लोमा हैं। 32 से अधिक वर्षों की अपनी पेशेवर यात्रा के दौरान, उन्हें कॉर्पोरेट कार्यालय और फील्ड स्तर की बैंकिंग का व्यापक एक्सपोजर मिला है। वह धर्मपुरी, पुणे और चेन्नई नॉर्थ जोन के जोनल मैनेजर थे। वह फील्ड जनरल मैनेजर दिल्ली थे जो 8 जोन को कंट्रोल करते थे। उन्होंने प्रधान कार्यालय में वसूली और कानूनी विभाग का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है।

वह तमिलनाडु ग्राम बैंक के बोर्ड में भी थे, जिसका गठन दो आरआरबी अर्थात् पांडियन ग्राम बैंक की विलय इकाई के रूप में किया गया था, जो इंडियन ओवरसीज बैंक की सहायक कंपनी पल्लवन ग्राम बैंक के साथ इंडियन बैंक की एक सहायक कंपनी है।

उन्होंने 10.03.2021 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

श्री सुब्रत कुमार को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है और उन्होंने 21.11.2022 को कार्यभार ग्रहण किया है। श्री कुमार बी.एससी., एमबीए और सीएआईआईबी अहर्ता प्राप्त बैंकर हैं। उनके पास कमर्शियल बैंकों/एसेट मैनेजमेंट कंपनी में 27 से अधिक वर्षों तक कार्य करने का अनुभव है।

बैंकिंग उद्योग में अपने लंबे कार्यकाल के दौरान, उन्होंने ट्रेजरी और निवेश बैंकिंग, जोखिम प्रबंधन, क्रेडिट निगरानी और कॉर्पोरेट बैंकिंग में  विशेषज्ञता के साथ परिचालन और रणनीतिक बैंकिंग के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विविध अनुभव अर्जित किए। उन्होंने रीजनल हेड, पटना, हेड ऑफ ट्रेजरी मैनेजमेंट, ऑडिट एंड इंस्पेक्शन, क्रेडिट मॉनिटरिंग एंड कॉरपोरेट क्रेडिट जैसी जिम्मेदारियों को सफलतापूर्वक संभाला। उन्होंने बैंक के मुख्य जोखिम अधिकारी (ईवीबी) और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) का पद भी संभाला।

वह एफआईएमएमडीए और बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड के बोर्ड में भी थे।

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

श्री राजीव मिश्रा ने 01 मार्च, 2024 को बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया है। उन्होंने एमबीए और बीई किया है, और वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स और इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। वे बीबीबी और आईआईएम-बैंगलोर के साथ वरिष्ठ पीएसबी प्रबंधन के लिए नेतृत्व विकास कार्यक्रम का हिस्सा थे।

श्री मिश्रा के पास डिजिटल, एनालिटिक्स और आईटी, रिटेल और एमएसएमई क्रेडिट, लार्ज कॉर्पोरेट्स, वसूली और कोषागार में 24 वर्षों का गहरा और विविध अनुभव है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के लिए डिजिटल यात्रा परिवर्तन का नेतृत्व किया, जिसमें उनके प्रमुख मोबाइल ऐप व्योम का शुभारंभ भी शामिल है।

श्री मिश्रा ने विभिन्न क्षेत्रों और कार्यक्षेत्रों में कई नेतृत्व वाले पदों पर काम किया है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण इकाइयों यथा मुंबई, लखनऊ, कोलकाता और वाराणसी के आंचलिक प्रमुख और क्षेत्रीय प्रमुख के रूप में सफल कारोबारीक कार्यनिष्पादन का नेतृत्व किया। उन्होंने डिजिटल, आईटी और एनालिटिक्स, वसूली और देयता-क्षेत्रों का भी नेतृत्व किया। श्री मिश्रा ने काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक, वाराणसी, यूपी सरकार द्वारा स्थापित यूपी इंडस्ट्रियल कंसल्टेंट लिमिटेड, सिडबी एवं पीएसबी और यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के बोर्डों में भी काम किया है।

मुख्य सतर्कता अधिकारी
Shri Vishnu Kumar Gupta-Chief Vigilance Officer Bank of India (BOI)

श्री विष्णु कुमार गुप्ता

मुख्य सतर्कता अधिकारी

परिचय
Shri Vishnu Kumar Gupta-Chief Vigilance Officer Bank of India (BOI)

श्री विष्णु कुमार गुप्ता

मुख्य सतर्कता अधिकारी

श्री विष्णु कुमार गुप्ता, उम्र 56 वर्ष, ने 01.12.2022 को बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य सतर्कता अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया। श्री गुप्ता पंजाब नेशनल बैंक में मुख्य महाप्रबंधक हैं।
श्री गुप्ता 1993 में एसटीसी-नोएडा, (ई) ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में परिवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में शामिल हुए। उनके पास (ई) ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और पंजाब नेशनल बैंक में तीन दशकों से अधिक का पेशेवर बैंकिंग अनुभव है, जिसमें विदेशी मुद्रा, कॉर्पोरेट क्रेडिट, मानव संसाधन और शाखा प्रभारी, क्षेत्रीय प्रमुख, क्लस्टर मॉनिटरिंग सहित बैंकिंग के कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में व्यापक अनुभव है। प्रमुख, मंडल प्रमुख और आंचलिक प्रबंधक।
श्री गुप्ता ने दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, अहमदाबाद, पुणे, सूरत, जयपुर और भोपाल सहित देश भर में 13 विभिन्न भौगोलिक स्थानों पर काम किया है।
श्री गुप्ता लेखा एवं व्यवसाय सांख्यिकी में स्नातकोत्तर और एमबीए (विपणन एवं वित्त) हैं। उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर से कार्मिक प्रबंधन और श्रम कल्याण में डिप्लोमा और एम.पी.एम. आई.आर., इग्नू, नई दिल्ली से व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा भी किया है।

संपर्क नंबर: 022 6668-4660
ईमेल आईडी : gm.cvo@bankofindia.co.in

मुख्य महाप्रबंधक
Abhijit Bose

अभिजीत बोस

Abhijit Bose

अभिजीत बोस

Ashok Kumar Pathak

अशोक कुमार पाठक

Ashok Kumar Pathak

अशोक कुमार पाठक

Sudhiranjan Padhi

सुधीरंजन पढ़ी

Sudhiranjan Padhi

सुधीरंजन पढ़ी

पिनपाला हरी किशन

पिनपाला हरी किशन

प्रफुल्ल कुमार गिरी

प्रफुल्ल कुमार गिरी

Sharda Bhushan Rai

शारदा भूषण राय

Sharda Bhushan Rai

शारदा भूषण राय

Nitin G Deshpande

नितीन जी देशपांडे

Nitin G Deshpande

नितीन जी देशपांडे

Gyaneshwar J Prasad

ज्ञानेश्वर जे प्रसाद

Gyaneshwar J Prasad

ज्ञानेश्वर जे प्रसाद

Rajesh Sadashiv Ingle

राजेश सदाशिव इंगले

Rajesh Sadashiv Ingle

राजेश सदाशिव इंगले

प्रशांत थपलियाल

प्रशांत थपलियाल

महाप्रबंधक

राजेश कुमार राम

राजेश कुमार राम

सुनील शर्मा

सुनील शर्मा

Lokesh Krishna

लोकेश कृष्णा

Lokesh Krishna

लोकेश कृष्णा

Kuldeep Jindal

कुलदीप जिंदल

Kuldeep Jindal

कुलदीप जिंदल

Uddalok Bhattacharya

उद्दालोक भट्टाचार्य

Uddalok Bhattacharya

उद्दालोक भट्टाचार्य

प्रमोद कुमार द्विवेदी

प्रमोद कुमार द्विवेदी

Amitabh Banerjee

अमिताभ बॅनर्जी

Amitabh Banerjee

अमिताभ बॅनर्जी

GM-ShriRadhaKantaHota.jpg

राधा कांता होता

GM-ShriRadhaKantaHota.jpg

राधा कांता होता

B Kumar

बी कुमार

B Kumar

बी कुमार

Geetha Nagarajan

गीता नागराजन

Geetha Nagarajan

गीता नागराजन

शशिधरन मंगलमकत

शशिधरन मंगलमकत

बिस्वजीत मिश्रा

बिस्वजीत मिश्रा

VND.jpg

विवेकानंद दुबे

VND.jpg

विवेकानंद दुबे

संजय राम श्रीवास्तव

संजय राम श्रीवास्तव

मनोज कुमार सिंह

मनोज कुमार सिंह

वासु देव

वासु देव

सुब्रत कुमार रॉय

सुब्रत कुमार रॉय

Sankar Sen

शंकर सेन

Sankar Sen

शंकर सेन

सत्येंद्र सिंह

सत्येंद्र सिंह

संजीब सरकार

संजीब सरकार

पुष्पा चौधरी

पुष्पा चौधरी

धनंजय कुमार

धनंजय कुमार

Nakula Behera

नकुल बेहरा

Nakula Behera

नकुल बेहरा

अनिल कुमार वर्मा

अनिल कुमार वर्मा

MANOJ  KUMAR

मनोज कुमार

MANOJ  KUMAR

मनोज कुमार

ANJALI  BHATNAGAR

अंजलि भटनागर

ANJALI  BHATNAGAR

अंजलि भटनागर

SUVENDU KUMAR BEHERA

सुवेंदु कुमार बेहरा

SUVENDU KUMAR BEHERA

सुवेंदु कुमार बेहरा

RAJNISH  BHARDWAJ

रजनीश भारद्वाज

RAJNISH  BHARDWAJ

रजनीश भारद्वाज

MUKESH  SHARMA

मुकेश शर्मा

MUKESH  SHARMA

मुकेश शर्मा

VIJAY MADHAVRAO PARLIKAR

विजय माधवराव परलिकार

VIJAY MADHAVRAO PARLIKAR

विजय माधवराव परलिकार

PRASHANT KUMAR SINGH

प्रशांत कुमार सिंह

PRASHANT KUMAR SINGH

प्रशांत कुमार सिंह

VIKASH KRISHNA

विकास कृष्ण

VIKASH KRISHNA

विकास कृष्ण

SHAMPA SUDHIR BISWAS

शम्पा सुधीर बिस्वास

SHAMPA SUDHIR BISWAS

शम्पा सुधीर बिस्वास

सौन्दर्य भूषण साहनी

सौन्दर्य भूषण साहनी

दीपक कुमार गुप्ता

दीपक कुमार गुप्ता

चंद्र मोहन कुमरा

चंद्र मोहन कुमरा

सुधाकर एस. पसुमर्थी

सुधाकर एस. पसुमर्थी

अजय ठाकुर

अजय ठाकुर

सुभाकर मायलबाथुला

सुभाकर मायलबाथुला

अमरेन्द्र कुमार

अमरेन्द्र कुमार

मनोज कुमार श्रीवास्तव

मनोज कुमार श्रीवास्तव

महाप्रबंधक-ऑन-प्रतिनियुक्ति

वी आनंद

वी आनंद

raghvendra-kumar.jpg

राघवेंद्र कुमार

raghvendra-kumar.jpg

राघवेंद्र कुमार

रमेश चंद्र बेहरा

रमेश चंद्र बेहरा

SANTOSH S

संतोष एस

SANTOSH S

संतोष एस

संस्थापक सदस्य

श्री रतन दादाभाई टाटा

श्री रतन दादाभाई टाटा

सर ससून डेविड

सर ससून डेविड

श्री गोवर्धनदास खटाऊ

श्री गोवर्धनदास खटाऊ

सर कावसजी जहाँगीर, प्रथम बैरोनेट

सर कावसजी जहाँगीर, प्रथम बैरोनेट

सर लालूभाई सामलदास

सर लालूभाई सामलदास

श्री खेतसी खेसी

श्री खेतसी खेसी

श्री रामनारायण हरनंदराय

श्री रामनारायण हरनंदराय

श्री जय नारायण हिंदुमुल दानी

श्री जय नारायण हिंदुमुल दानी

श्री नुरूद्दीन इब्राहिम

श्री नुरूद्दीन इब्राहिम

श्री सापुरजी भरोचा

श्री सापुरजी भरोचा

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

परिचय

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

श्री एम.आर.कुमार ने 22.02.2024 को बैंक ऑफ़ इंडिया के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया है।

श्री कुमार मद्रास विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक हैं। उन्होंने मार्च 2019 से मार्च 2023 तक भारत के एलआईसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने 1983 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में भारतीय जीवन बीमा निगम में सेवारम्भ किया। साढ़े तीन दशकों से अधिक के करियर में, उन्हें भारतीय जीवम बीमा निगम के तीन क्षेत्रों, अर्थात् दक्षिणी क्षेत्र, उत्तर मध्य क्षेत्र और उत्तरी क्षेत्र, क्रमशः चेन्नई, कानपुर और दिल्ली में मुख्यालय का नेतृत्व करने का अनूठा अवसर मिला है।

कार्यपालक निदेशक के रूप में, उन्होंने कार्मिक विभाग के साथ-साथ एलआईसी के पेंशन और समूह बीमा संविभागों का नेतृत्व किया। उनके कार्यकाल के दौरान, कर्मचारियों के लाभ के लिए कई पहल किए गए। इसके अलावा, जीवन बीमा प्रबंधन की विभिन्न धाराओं जैसे प्रशासन, विपणन, समूह और सामाजिक प्रतिभूतियों में काम करने से उन्हें समृद्ध ज्ञान एवं जीवन बीमा उद्योग में प्रक्रियाओं और पद्धतियों के संबंध में स्पष्टता के दोहरा लाभ भी मिला है।

एलआईसी के अध्यक्ष होने के अलावा, वह एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, एलआईसी पेंशन फंड लिमिटेड, एलआईसी म्यूचुअल फंड एएमसी लिमिटेड, एलआईसी कार्ड सर्विसेज लिमिटेड, आईडीबीआई बैंक, एलआईसी सिंगापुर पीटीई, एलआईसी लंका लिमिटेड, एलआईसी (अंतरराष्ट्रीय) बीएससी, बहरीन, एलआईसी नेपाल लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष भी थे। आईडीबीआई बैंक के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में, वे आईडीबीआई बैंक को घाटे में चल रही इकाई से लाभ वाली इकाई में बदलने की कार्यनीति बनाने में शामिल थे।

उन्होंने केनइंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, केन्या और एसीसी लिमिटेड, भारत के बोर्ड में निदेशक का भी पद संभाला।

वे राष्ट्रीय बीमा अकादमी के शासी बोर्ड के अध्यक्ष, भारतीय बीमा संस्थान के अध्यक्ष और बीमा लोकपाल परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

वर्तमान में, वे अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के बोर्ड में निदेशक हैं।

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

परिचय

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

श्री रजनीश कर्नाटक ने 29 अप्रैल, 2023 को बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया है। वह 21 अक्टूबर, 2021 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में अपनी नियुक्ति तक पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य महाप्रबंधक थे। उन्होंने वाणिज्य में स्नातकोत्तर (एमकॉम) किया हैं और भारतीय बैंकर संस्थान के एक प्रमाणित एसोसिएट (सीएआईआईबी) हैं।

श्री कर्नाटक के पास 30 से अधिक वर्षों का समृद्ध बैंकिंग अनुभव और उनके पास विभिन्न शाखा और प्रशासनिक कार्यालय का अनुभव है। पूर्ववर्ती ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में महाप्रबंधक के रूप में, उन्होंने बड़ी कॉर्पोरेट क्रेडिट शाखाओं और क्रेडिट मॉनिटरिंग, डिजिटल बैंकिंग और मिड कॉर्पोरेट क्रेडिट जैसे वर्टिकल का नेतृत्व किया है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के पंजाब नेशनल बैंक में विलय के बाद, उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक में क्रेडिट रिव्यू एंड मॉनिटरिंग डिवीजन और कॉर्पोरेट क्रेडिट डिवीजन का भी नेतृत्व किया है।

श्री कर्नाटक ने आईआईएम-कोझीकोड और जेएनआईडीबी हैदराबाद से विभिन्न प्रशिक्षण और नेतृत्व विकास कार्यक्रमों में भाग लिया है और आईएमआई (अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान) दिल्ली और आईआईबीएफ (भारतीय बैंकिंग और वित्त संस्थान) में अग्रिम प्रबंधन कार्यक्रम में भी भाग लिया है। वह आईआईएम बैंगलोर और एगॉन जेन्डर के नेतृत्व विकास कार्यक्रम के लिए बैंक बोर्ड ब्यूरो द्वारा चुने गए वरिष्ठ अधिकारियों के पहले बैच का हिस्सा थे। वह क्रेडिट जोखिम पर विशेष संदर्भ/विशेष जोर देने के साथ जोखिम प्रबंधन के साथ परियोजना वित्त पोषण और कार्यशील पूंजी वित्तपोषण सहित क्रेडिट मूल्यांकन कौशल रखते हैं।

श्री कर्नाटक ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने यूबीआई (यूके) लिमिटेड के बोर्ड में गैर-स्वतंत्र गैर-कार्यपालक निदेशक के रूप में भी कार्य किया है। वह भारतीय बैंक प्रबंधन संस्थान (आईआईबीएम) गुवाहाटी के गवर्निंग बोर्ड के सदस्य थे। उन्होंने पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड और इंडिया एसएमई एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के बोर्ड में पंजाब नेशनल बैंक की ओर से नामित निदेशक के रूप में कार्य किया है। उन्होंने आईएएमसीएल (आईआईएफसीएल एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड) में बोर्ड ट्रस्टी के रूप में भी काम किया।

वह आईबीए, आईबीपीएस और एनआईबीएम आदि की विभिन्न समितियों में सेवारत हैं। वह आईएफएससी गिफ्ट सिटी पर आईबीए क्षेत्रीय समिति की समिति के अध्यक्ष - आईबीए की बैंकिंग इकाइयाँ और आईबीपीएस की वित्त समिति के अध्यक्ष हैं। इसके अलावा, वह आईबीपीएस और एनआईबीएम में गवर्निंग बोर्ड के सदस्य हैं।

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

परिचय

श्री एम.आर.कुमार

अध्यक्ष

श्री एम.आर.कुमार ने 22.02.2024 को बैंक ऑफ़ इंडिया के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया है।

श्री कुमार मद्रास विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक हैं। उन्होंने मार्च 2019 से मार्च 2023 तक भारत के एलआईसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने 1983 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में भारतीय जीवन बीमा निगम में सेवारम्भ किया। साढ़े तीन दशकों से अधिक के करियर में, उन्हें भारतीय जीवम बीमा निगम के तीन क्षेत्रों, अर्थात् दक्षिणी क्षेत्र, उत्तर मध्य क्षेत्र और उत्तरी क्षेत्र, क्रमशः चेन्नई, कानपुर और दिल्ली में मुख्यालय का नेतृत्व करने का अनूठा अवसर मिला है।

कार्यपालक निदेशक के रूप में, उन्होंने कार्मिक विभाग के साथ-साथ एलआईसी के पेंशन और समूह बीमा संविभागों का नेतृत्व किया। उनके कार्यकाल के दौरान, कर्मचारियों के लाभ के लिए कई पहल किए गए। इसके अलावा, जीवन बीमा प्रबंधन की विभिन्न धाराओं जैसे प्रशासन, विपणन, समूह और सामाजिक प्रतिभूतियों में काम करने से उन्हें समृद्ध ज्ञान एवं जीवन बीमा उद्योग में प्रक्रियाओं और पद्धतियों के संबंध में स्पष्टता के दोहरा लाभ भी मिला है।

एलआईसी के अध्यक्ष होने के अलावा, वह एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, एलआईसी पेंशन फंड लिमिटेड, एलआईसी म्यूचुअल फंड एएमसी लिमिटेड, एलआईसी कार्ड सर्विसेज लिमिटेड, आईडीबीआई बैंक, एलआईसी सिंगापुर पीटीई, एलआईसी लंका लिमिटेड, एलआईसी (अंतरराष्ट्रीय) बीएससी, बहरीन, एलआईसी नेपाल लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष भी थे। आईडीबीआई बैंक के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में, वे आईडीबीआई बैंक को घाटे में चल रही इकाई से लाभ वाली इकाई में बदलने की कार्यनीति बनाने में शामिल थे।

उन्होंने केनइंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, केन्या और एसीसी लिमिटेड, भारत के बोर्ड में निदेशक का भी पद संभाला।

वे राष्ट्रीय बीमा अकादमी के शासी बोर्ड के अध्यक्ष, भारतीय बीमा संस्थान के अध्यक्ष और बीमा लोकपाल परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

वर्तमान में, वे अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के बोर्ड में निदेशक हैं।

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

परिचय

श्री रजनीश कर्नाटक

प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी

श्री रजनीश कर्नाटक ने 29 अप्रैल, 2023 को बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया है। वह 21 अक्टूबर, 2021 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में अपनी नियुक्ति तक पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य महाप्रबंधक थे। उन्होंने वाणिज्य में स्नातकोत्तर (एमकॉम) किया हैं और भारतीय बैंकर संस्थान के एक प्रमाणित एसोसिएट (सीएआईआईबी) हैं।

श्री कर्नाटक के पास 30 से अधिक वर्षों का समृद्ध बैंकिंग अनुभव और उनके पास विभिन्न शाखा और प्रशासनिक कार्यालय का अनुभव है। पूर्ववर्ती ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में महाप्रबंधक के रूप में, उन्होंने बड़ी कॉर्पोरेट क्रेडिट शाखाओं और क्रेडिट मॉनिटरिंग, डिजिटल बैंकिंग और मिड कॉर्पोरेट क्रेडिट जैसे वर्टिकल का नेतृत्व किया है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के पंजाब नेशनल बैंक में विलय के बाद, उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक में क्रेडिट रिव्यू एंड मॉनिटरिंग डिवीजन और कॉर्पोरेट क्रेडिट डिवीजन का भी नेतृत्व किया है।

श्री कर्नाटक ने आईआईएम-कोझीकोड और जेएनआईडीबी हैदराबाद से विभिन्न प्रशिक्षण और नेतृत्व विकास कार्यक्रमों में भाग लिया है और आईएमआई (अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान) दिल्ली और आईआईबीएफ (भारतीय बैंकिंग और वित्त संस्थान) में अग्रिम प्रबंधन कार्यक्रम में भी भाग लिया है। वह आईआईएम बैंगलोर और एगॉन जेन्डर के नेतृत्व विकास कार्यक्रम के लिए बैंक बोर्ड ब्यूरो द्वारा चुने गए वरिष्ठ अधिकारियों के पहले बैच का हिस्सा थे। वह क्रेडिट जोखिम पर विशेष संदर्भ/विशेष जोर देने के साथ जोखिम प्रबंधन के साथ परियोजना वित्त पोषण और कार्यशील पूंजी वित्तपोषण सहित क्रेडिट मूल्यांकन कौशल रखते हैं।

श्री कर्नाटक ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के गैर-कार्यपालक अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। उन्होंने यूबीआई (यूके) लिमिटेड के बोर्ड में गैर-स्वतंत्र गैर-कार्यपालक निदेशक के रूप में भी कार्य किया है। वह भारतीय बैंक प्रबंधन संस्थान (आईआईबीएम) गुवाहाटी के गवर्निंग बोर्ड के सदस्य थे। उन्होंने पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड और इंडिया एसएमई एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के बोर्ड में पंजाब नेशनल बैंक की ओर से नामित निदेशक के रूप में कार्य किया है। उन्होंने आईएएमसीएल (आईआईएफसीएल एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड) में बोर्ड ट्रस्टी के रूप में भी काम किया।

वह आईबीए, आईबीपीएस और एनआईबीएम आदि की विभिन्न समितियों में सेवारत हैं। वह आईएफएससी गिफ्ट सिटी पर आईबीए क्षेत्रीय समिति की समिति के अध्यक्ष - आईबीए की बैंकिंग इकाइयाँ और आईबीपीएस की वित्त समिति के अध्यक्ष हैं। इसके अलावा, वह आईबीपीएस और एनआईबीएम में गवर्निंग बोर्ड के सदस्य हैं।

Shri P R Rajagopal

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

परिचय
Shri P R Rajagopal

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

श्री पी आर राजगोपाल, आयु 53 वर्ष वाणिज्य स्नातक और विधि स्नातक (बीएल) हैं। उन्होंने 1995 में एक अधिकारी के रूप में बैंक ऑफ इंडिया में अपना करियर शुरू किया और 2000 में वरिष्ठ प्रबंधक बने। भारतीय बैंक संघ में कानूनी सलाहकार के रूप में नियुक्त हुए और 2004 तक बैंक ऑफ इंडिया में प्रत्यावर्तन तक आईबीए के साथ रहे। वह 2004 में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में शामिल हुए और वर्ष 2016 में महाप्रबंधक के पद पर पदोन्नत हुए। कार्यकारी निदेशक के पद पर पदोन्नति पर, वह 01.03.2019 को इलाहाबाद बैंक में शामिल हुए।

उन्होंने 18 मार्च, 2020 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

Shri M Karthikeyan

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

परिचय
Shri M Karthikeyan

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

56 वर्षीय श्री एम कार्तिकेयन इंडियन बैंक में महाप्रबंधक (कॉर्पोरेट विकास अधिकारी) थे। वह कृषि में मास्टर ऑफ साइंस, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (सीएआईआईबी) के प्रमाणित एसोसिएट, जीयूआई एप्लीकेशन में डिप्लोमा, प्रबंधन में डिप्लोमा हैं। 32 से अधिक वर्षों की अपनी पेशेवर यात्रा के दौरान, उन्हें कॉर्पोरेट कार्यालय और फील्ड स्तर की बैंकिंग का व्यापक एक्सपोजर मिला है। वह धर्मपुरी, पुणे और चेन्नई नॉर्थ जोन के जोनल मैनेजर थे। वह फील्ड जनरल मैनेजर दिल्ली थे जो 8 जोन को कंट्रोल करते थे। उन्होंने प्रधान कार्यालय में वसूली और कानूनी विभाग का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है।

वह तमिलनाडु ग्राम बैंक के बोर्ड में भी थे, जिसका गठन दो आरआरबी अर्थात् पांडियन ग्राम बैंक की विलय इकाई के रूप में किया गया था, जो इंडियन ओवरसीज बैंक की सहायक कंपनी पल्लवन ग्राम बैंक के साथ इंडियन बैंक की एक सहायक कंपनी है।

उन्होंने 10.03.2021 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

श्री सुब्रत कुमार को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है और उन्होंने 21.11.2022 को कार्यभार ग्रहण किया है। श्री कुमार बी.एससी., एमबीए और सीएआईआईबी अहर्ता प्राप्त बैंकर हैं। उनके पास कमर्शियल बैंकों/एसेट मैनेजमेंट कंपनी में 27 से अधिक वर्षों तक कार्य करने का अनुभव है।

बैंकिंग उद्योग में अपने लंबे कार्यकाल के दौरान, उन्होंने ट्रेजरी और निवेश बैंकिंग, जोखिम प्रबंधन, क्रेडिट निगरानी और कॉर्पोरेट बैंकिंग में विशेषज्ञता के साथ परिचालन और रणनीतिक बैंकिंग के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विविध अनुभव अर्जित किए। उन्होंने रीजनल हेड, पटना, हेड ऑफ ट्रेजरी मैनेजमेंट, ऑडिट एंड इंस्पेक्शन, क्रेडिट मॉनिटरिंग एंड कॉरपोरेट क्रेडिट जैसी जिम्मेदारियों को सफलतापूर्वक संभाला। उन्होंने बैंक के मुख्य जोखिम अधिकारी (ईवीबी) और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) का पद भी संभाला।

वह एफआईएमएमडीए और बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड के बोर्ड में भी थे।

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

श्री राजीव मिश्रा ने 01 मार्च, 2024 को बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया है। उन्होंने एमबीए और बीई किया है, और वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स और इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। वे बीबीबी और आईआईएम-बैंगलोर के साथ वरिष्ठ पीएसबी प्रबंधन के लिए नेतृत्व विकास कार्यक्रम का हिस्सा थे।

श्री मिश्रा के पास डिजिटल, एनालिटिक्स और आईटी, रिटेल और एमएसएमई क्रेडिट, लार्ज कॉर्पोरेट्स, वसूली और कोषागार में 24 वर्षों का गहरा और विविध अनुभव है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के लिए डिजिटल यात्रा परिवर्तन का नेतृत्व किया, जिसमें उनके प्रमुख मोबाइल ऐप व्योम का शुभारंभ भी शामिल है।

श्री मिश्रा ने विभिन्न क्षेत्रों और कार्यक्षेत्रों में कई नेतृत्व वाले पदों पर काम किया है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण इकाइयों यथा मुंबई, लखनऊ, कोलकाता और वाराणसी के आंचलिक प्रमुख और क्षेत्रीय प्रमुख के रूप में सफल कारोबारीक कार्यनिष्पादन का नेतृत्व किया। उन्होंने डिजिटल, आईटी और एनालिटिक्स, वसूली और देयता-क्षेत्रों का भी नेतृत्व किया। श्री मिश्रा ने काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक, वाराणसी, यूपी सरकार द्वारा स्थापित यूपी इंडस्ट्रियल कंसल्टेंट लिमिटेड, सिडबी एवं पीएसबी और यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के बोर्डों में भी काम किया है।

Dr. Bhushan Kumar Sinha

डॉ. भूषण कुमार सिन्हा

भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक

परिचय
Dr. Bhushan Kumar Sinha

डॉ. भूषण कुमार सिन्हा

भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक

डॉ भूषण कुमार सिन्हा को 11.04.2022 से बैंक ऑफ इंडिया में भारत सरकार द्वारा नामित निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।

वह भारतीय आर्थिक सेवा के 1993 बैच के सदस्य हैं। उन्होंने नेशनल ग्रेजुएट स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (एनजीएसएम), ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी, कैनबरा, ऑस्ट्रेलिया से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) में मास्टर डिग्री और दिल्ली विश्वविद्यालय, भारत के वित्तीय अध्ययन विभाग से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है।

वर्तमान में वह वित्तीय सेवा विभाग (डीएफएस), वित्त मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली में संयुक्त सचिव के रूप में तैनात हैं। 2018 में डीएफएस में शामिल होने से पहले, उन्होंने निवेश और सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) में आर्थिक सलाहकार के रूप में तीन साल का कार्यकाल किया था।

वह 14.05.2018 से 11.04.2022 तक भारत सरकार के नामित निदेशक के रूप में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के बोर्ड में थे।

बैंक ऑफ इंडिया के अलावा, वह आईएफसीआई लिमिटेड के निदेशक मंडल में भारत सरकार के नामित निदेशक भी हैं।

SHRI ASHOK NARAIN

श्री अशोक नारायण

आरबीआई नामित निदेशक

परिचय
SHRI ASHOK NARAIN

श्री अशोक नारायण

आरबीआई नामित निदेशक

श्री अशोक नारायण पर्यवेक्षी नियामक कार्यक्षेत्र में लगभग 18 वर्षों सहित 33 वर्षों की सेवा के बाद 2022 में भारतीय रिज़र्व बैंक के पर्यवेक्षण विभाग के मुख्य महाप्रबंधक के रूप में सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने बैंकों की कई ऑन-साइट परीक्षा का नेतृत्व किया और वाणिज्यिक बैंकों और शहरी सहकारी बैंकों के ऑफ-साइट पर्यवेक्षण के विकास को भी आकार दिया।

उन्हें आरबीआई के लिए उद्यम वार जोखिम प्रबंधन को लागू करने का कार्य सौंपा गया था और उन्होंने सेंट्रल बैंक श्रीलंका के लिए ईआरएम आर्किटेक्चर के विकास का भी मार्गदर्शन किया। उन्हें विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कार्य समूहों में आरबीआई द्वारा नामित किया गया था, साथ ही साथ निजी क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंक के बोर्ड में सदस्य भी थे। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय परिचालन जोखिम कार्य समूह (आईओआरडब्ल्यूजी) 2014-16, वित्तीय उपभोक्ता संरक्षण पर जी 20-ओईसीडी टास्क फोर्स (2017 और 2018) के सदस्य के रूप में आरबीआई का प्रतिनिधित्व किया और 2019-22 के दौरान वित्तीय स्थिरता बोर्ड बेसल के गैर-बैंकिंग निगरानी विशेषज्ञ समूह के गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थानों की टीम (क्रेडिट संस्थानों के लिए) के सह-नेतृत्व के रूप में प्रतिनिधित्व किया) 2019-22 के दौरान वित्तीय स्थिरता बोर्ड बेसल के गैर-बैंकिंग निगरानी विशेषज्ञ समूह के।

वह 2022 से वित्तीय क्षेत्र विशेषज्ञ के रूप में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा सूचीबद्ध हैं।

उन्होंने 14.07.2023 से पदभार ग्रहण किया है।

Ms. Veni Thapar

सुश्री वेनी थापर

शेयरधारक निदेशक

परिचय
Ms. Veni Thapar

सुश्री वेनी थापर

शेयरधारक निदेशक

सुश्री वेणी थापर, जिनकी आयु 50 वर्ष है, एक चार्टर्ड एकाउंटेंट और कॉस्ट अकाउंटेंट हैं। उन्होंने आईसीएआई से सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में डिप्लोमा और आईएसएसीए (यूएसए) से सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में प्रमाणन किया है। वह मैसर्स वीके थापर एंड कंपनी, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के साथ एक वरिष्ठ भागीदार हैं।

25 से अधिक वर्षों के अपने करियर के दौरान, उन्होंने संभाला है:

कंपनियों और संगठनों के वैधानिक और आंतरिक ऑडिट

- सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की विभिन्न शाखाओं के लिए बैंक लेखा परीक्षा

- सूचना प्रणाली लेखा परीक्षा में परामर्श

- कंपनी कानून, अप्रत्यक्ष कर, फेमा और आरबीआई मामलों में परामर्श

- अंतर्राष्ट्रीय कराधान सहित प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कराधान में परामर्श।

- फर्मों, बैंक, कंपनियों आदि में बोर्ड सदस्य।

वर्तमान में, वह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स में हैं।

उन्हें 04.12.2021 से 3 साल की अवधि के लिए बैंक के शेयरधारक निदेशक के रूप में चुना गया था।

Shri Munish Kumar Ralhan

श्री मुनीश कुमार रल्हन

अंशकालिक गैर-आधिकारिक निदेशक

परिचय
Shri Munish Kumar Ralhan

श्री मुनीश कुमार रल्हन

अंशकालिक गैर-आधिकारिक निदेशक

श्री मुनीष कुमार रल्हन, जिनकी आयु लगभग 48 वर्ष है, विज्ञान (बी.एससी) और एलएलबी में स्नातक हैं। वह पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय और अधीनस्थ न्यायालयों में एक प्रैक्टिसिंग वकील हैं, जिन्हें सिविल, आपराधिक, राजस्व, वैवाहिक, बैंकिंग, बीमा कंपनियों, उपभोक्ता, संपत्ति, दुर्घटना मामलों, सेवा मामलों आदि से संबंधित मामलों से निपटने का 25 वर्षों का समृद्ध अनुभव है।

वह होशियारपुर, पंजाब में भारत संघ के स्थायी वकील हैं।

उन्हें 21.03.2022 से 3 साल की अवधि के लिए या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, के लिए नियुक्त किया गया था।

Shri V V Shenoy

श्री वी वी शेनॉय

शेयरधारक निदेशक

परिचय
Shri V V Shenoy

श्री वी वी शेनॉय

शेयरधारक निदेशक

मुंबई के श्री विश्वनाथ विट्ठल शेनॉय, उम्र 60 वर्ष, वाणिज्य में स्नातक हैं और एक प्रमाणित बैंकर (सीएआईआईबी) हैं। वह इंडियन बैंक के कार्यपालक निदेशक (ईडी) के रूप में सेवानिवृत्त हुए। ईडी के रूप में, वह बड़े कॉरपोरेट क्रेडिट, मिड कॉरपोरेट क्रेडिट, इंटरनेशनल बैंकिंग, ट्रेजरी, मानव संसाधन, मानव विकास, बोर्ड सचिवालय आदि की देखरेख कर रहे थे।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में पहले विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके उनके पास 38 वर्षों से अधिक का बैंकिंग अनुभव है। वह इंडियन बैंक के नामांकित व्यक्ति के रूप में यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, इंडबैंक मर्चेंट बैंकिंग सर्विसेज लिमिटेड, इंड बैंक हाउसिंग लिमिटेड, सिक्योरिटीज एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्योरिटी इंटरेस्ट ऑफ इंडिया (सीईआरएसएआई) की केंद्रीय रजिस्ट्री के गैर-कार्यपालक निदेशक भी थे।

उन्होंने 29.11.2022 से 3 साल की अवधि के लिए पदभार ग्रहण किया है।

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री पी आर राजगोपाल

कार्यपालक निदेशक

श्री पी आर राजगोपाल, जिनकी आयु 53 वर्ष है, वाणिज् य स् नातक और विधि में स् नातक (बीएल) हैं। उन्होंने 1995 में एक अधिकारी के रूप में बैंक ऑफ इंडिया में अपना करियर शुरू किया और 2000 में वरिष्ठ प्रबंधक बने। कानूनी सलाहकार के रूप में भारतीय बैंक संघ के साथ दूसरे और 2004 तक बैंक ऑफ इंडिया में प्रत्यावर्तन तक आईबीए के साथ थे। वह 2004 में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में शामिल हुए और वर्ष 2016 में महाप्रबंधक के पद पर पदोन्नत हुए। कार्यपालक निदेशक के पद पर पदोन्नति पर, वह 01.03.2019 को इलाहाबाद बैंक में शामिल हो गए

उन्होंने 18 मार्च, 2020 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री एम कार्तिकेयन

कार्यपालक निदेशक

56 वर्षीय श्री एम कार्तिकेयन इंडियन बैंक में महाप्रबंधक (कॉर्पोरेट विकास अधिकारी) थे। वह कृषि में मास्टर ऑफ साइंस, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (सीएआईआईबी) के प्रमाणित एसोसिएट, जीयूआई एप्लीकेशन में डिप्लोमा, प्रबंधन में डिप्लोमा हैं। 32 से अधिक वर्षों की अपनी पेशेवर यात्रा के दौरान, उन्हें कॉर्पोरेट कार्यालय और फील्ड स्तर की बैंकिंग का व्यापक एक्सपोजर मिला है। वह धर्मपुरी, पुणे और चेन्नई नॉर्थ जोन के जोनल मैनेजर थे। वह फील्ड जनरल मैनेजर दिल्ली थे जो 8 जोन को कंट्रोल करते थे। उन्होंने प्रधान कार्यालय में वसूली और कानूनी विभाग का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है।

वह तमिलनाडु ग्राम बैंक के बोर्ड में भी थे, जिसका गठन दो आरआरबी अर्थात् पांडियन ग्राम बैंक की विलय इकाई के रूप में किया गया था, जो इंडियन ओवरसीज बैंक की सहायक कंपनी पल्लवन ग्राम बैंक के साथ इंडियन बैंक की एक सहायक कंपनी है।

उन्होंने 10.03.2021 को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री सुब्रत कुमार

कार्यपालक निदेशक

श्री सुब्रत कुमार को बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है और उन्होंने 21.11.2022 को कार्यभार ग्रहण किया है। श्री कुमार बी.एससी., एमबीए और सीएआईआईबी अहर्ता प्राप्त बैंकर हैं। उनके पास कमर्शियल बैंकों/एसेट मैनेजमेंट कंपनी में 27 से अधिक वर्षों तक कार्य करने का अनुभव है।

बैंकिंग उद्योग में अपने लंबे कार्यकाल के दौरान, उन्होंने ट्रेजरी और निवेश बैंकिंग, जोखिम प्रबंधन, क्रेडिट निगरानी और कॉर्पोरेट बैंकिंग में  विशेषज्ञता के साथ परिचालन और रणनीतिक बैंकिंग के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विविध अनुभव अर्जित किए। उन्होंने रीजनल हेड, पटना, हेड ऑफ ट्रेजरी मैनेजमेंट, ऑडिट एंड इंस्पेक्शन, क्रेडिट मॉनिटरिंग एंड कॉरपोरेट क्रेडिट जैसी जिम्मेदारियों को सफलतापूर्वक संभाला। उन्होंने बैंक के मुख्य जोखिम अधिकारी (ईवीबी) और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) का पद भी संभाला।

वह एफआईएमएमडीए और बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड के बोर्ड में भी थे।

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

परिचय

श्री राजीव मिश्रा

कार्यपालक निदेशक

श्री राजीव मिश्रा ने 01 मार्च, 2024 को बैंक ऑफ इंडिया में कार्यपालक निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया है। उन्होंने एमबीए और बीई किया है, और वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स और इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। वे बीबीबी और आईआईएम-बैंगलोर के साथ वरिष्ठ पीएसबी प्रबंधन के लिए नेतृत्व विकास कार्यक्रम का हिस्सा थे।

श्री मिश्रा के पास डिजिटल, एनालिटिक्स और आईटी, रिटेल और एमएसएमई क्रेडिट, लार्ज कॉर्पोरेट्स, वसूली और कोषागार में 24 वर्षों का गहरा और विविध अनुभव है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के लिए डिजिटल यात्रा परिवर्तन का नेतृत्व किया, जिसमें उनके प्रमुख मोबाइल ऐप व्योम का शुभारंभ भी शामिल है।

श्री मिश्रा ने विभिन्न क्षेत्रों और कार्यक्षेत्रों में कई नेतृत्व वाले पदों पर काम किया है। उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण इकाइयों यथा मुंबई, लखनऊ, कोलकाता और वाराणसी के आंचलिक प्रमुख और क्षेत्रीय प्रमुख के रूप में सफल कारोबारीक कार्यनिष्पादन का नेतृत्व किया। उन्होंने डिजिटल, आईटी और एनालिटिक्स, वसूली और देयता-क्षेत्रों का भी नेतृत्व किया। श्री मिश्रा ने काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक, वाराणसी, यूपी सरकार द्वारा स्थापित यूपी इंडस्ट्रियल कंसल्टेंट लिमिटेड, सिडबी एवं पीएसबी और यूबीआई सर्विसेज लिमिटेड के बोर्डों में भी काम किया है।

Shri Vishnu Kumar Gupta-Chief Vigilance Officer Bank of India (BOI)

श्री विष्णु कुमार गुप्ता

मुख्य सतर्कता अधिकारी

परिचय
Shri Vishnu Kumar Gupta-Chief Vigilance Officer Bank of India (BOI)

श्री विष्णु कुमार गुप्ता

मुख्य सतर्कता अधिकारी

श्री विष्णु कुमार गुप्ता, उम्र 56 वर्ष, ने 01.12.2022 को बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य सतर्कता अधिकारी के रूप में पदभार ग्रहण किया। श्री गुप्ता पंजाब नेशनल बैंक में मुख्य महाप्रबंधक हैं।
श्री गुप्ता 1993 में एसटीसी-नोएडा, (ई) ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में परिवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में शामिल हुए। उनके पास (ई) ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और पंजाब नेशनल बैंक में तीन दशकों से अधिक का पेशेवर बैंकिंग अनुभव है, जिसमें विदेशी मुद्रा, कॉर्पोरेट क्रेडिट, मानव संसाधन और शाखा प्रभारी, क्षेत्रीय प्रमुख, क्लस्टर मॉनिटरिंग सहित बैंकिंग के कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में व्यापक अनुभव है। प्रमुख, मंडल प्रमुख और आंचलिक प्रबंधक।
श्री गुप्ता ने दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, अहमदाबाद, पुणे, सूरत, जयपुर और भोपाल सहित देश भर में 13 विभिन्न भौगोलिक स्थानों पर काम किया है।
श्री गुप्ता लेखा एवं व्यवसाय सांख्यिकी में स्नातकोत्तर और एमबीए (विपणन एवं वित्त) हैं। उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर से कार्मिक प्रबंधन और श्रम कल्याण में डिप्लोमा और एम.पी.एम. आई.आर., इग्नू, नई दिल्ली से व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा भी किया है।

संपर्क नंबर: 022 6668-4660
ईमेल आईडी : gm.cvo@bankofindia.co.in

Abhijit Bose

अभिजीत बोस

Abhijit Bose

अभिजीत बोस

Ashok Kumar Pathak

अशोक कुमार पाठक

Ashok Kumar Pathak

अशोक कुमार पाठक

Sudhiranjan Padhi

सुधीरंजन पढ़ी

Sudhiranjan Padhi

सुधीरंजन पढ़ी

पिनपाला हरी किशन

पिनपाला हरी किशन

प्रफुल्ल कुमार गिरी